Vajradehi (वज्रदेही)

  • Home
  • Vajradehi (वज्रदेही)
Vajradehi (वज्रदेही)
Vajradehi (वज्रदेही)
Vajradehi (वज्रदेही)
Vajradehi (वज्रदेही)
Vajradehi (वज्रदेही)
Vajradehi (वज्रदेही)
Vajradehi (वज्रदेही)
Vajradehi (वज्रदेही)

Vajradehi (वज्रदेही)

बलपुष्टिकारक, ओजवर्धक, दौर्बल्यनाशक धातुपौष्टिक.

  • Category : Herbal

Variant:

Price:

Quantities:

About Product

वज्रदेही एक 51+ प्रकार की शुद्ध आयुर्वेदिक जड़ी बूटिया, अर्क, भस्में और बीजों का शास्त्र युक्त और विधिपूर्वक सूत्रीकरण है जिसके सेवन से शरीर बलपुष्टिकारक, ओजवर्धक, दौर्बल्यनाशक एवं धातु पौष्टिक बनकर शरीर को असीमित लाभ प्राप्त होंगे।
सामग्री-
अक्करकरा ईरानी, अर्जुनछाल, अश्वगंधा, बादाम, सौंफ, बीजबंद, ब्राह्मी, चंदन, दालचीनी, इलाइची, गोखरू, गुलाबकली, गुलवेल, हल्दी, अलसी, जयफल, मुलेठी, काली मुसली, कलौंजी, कथिला गोंद, कवचबीज, लाजवंती, लवंग, लोध्रा, मखाने, मालकांगनी, मेथी, कालीमिर्च, मोचरस, मोरिंगा, नागकेशर, सालमपंजा, पथारी मिश्री, पिंपली, कद्दूबीज, रुमामस्तगी, सब्जा, सफेद मूसली, सलाम गट्टा, सेमल मूसली, शतावरी, शीतलचीनी, स्पिरुलिना, सूरजमुखीबीज, सुंठ, तालिमखाना, टोंगकटअली, त्रिफला, तुकुमराई, तुलसी, वंशलोचन, वरधारा, विदारीकंद, इत्यादि.

How To Use

सेवन और मात्रा-

एक चम्मच शहद के साथ दिन में दो बार चिकित्सक के निर्देशानुसार लेना चाहिए।

Benifits

Whatsapp Icon Image